Thu. May 30th, 2024

बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान; तमिलनाडु में हाई अलर्ट, ट्रेनें रद्द

बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान; तमिलनाडु में हाई अलर्ट, ट्रेनें रद्द
आईएमडी ने पूर्वानुमान लगाया है की अगर तूफान चक्रवात में बदल जाती है, तो म्यांमार द्वारा इसे चक्रवात का नाम मिचौंग रखा गया है।
चेन्नई: 5 Dec तक देश के कोई राज्यों में भारी बारिश हो सकती है क्योंकि बंगाल की खाड़ी में चक्रवाती तूफान बन रही है। इसलिए तमिलनाडु सरकार ने निचले हिस्से में रहने वाले लोगों के लिए राहत शिविर तैयार किया गया है और जिन जिलों में भारी बारिश से जनजीवन प्रभावित होने की आशंका है, तमिलनाडु सरकार द्वारा एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की 17 टीमों को भेजा गया ।
चक्रवाती तूफान को देखते हुए 144 ट्रेनें भारतीय रेलवे ने रद्द कर दिया है 3 दिसंबर से लेकर 7 दिसंबर तक, जबकि 4 Dec को चेन्नई, तिरुवल्लुर, चेंगलपट्टू और कांचीपुरम में जिला स्कूलों और कॉलेजों के लिए छुट्टी की घोषणा कर दी है।
जब आईएमडी भारतीय मौसम विज्ञान ने बताया कि 3 Dec को बंगाल की खाड़ी में दबाव बन रहा है और यह 4 Dec तक तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश के तटों तक पंहुचा जायेगी तमिलनाडू सरकार द्वारा ठोस कदम तब उठाए गए है 16 जिलों में भारी बारिश हो रही है।
आईएमडी ने कहा, “इसके बाद, यह उत्तर दिशा की ओर लगभग समानांतर और दक्षिण आंध्र प्रदेश तटों के करीब बढ़ेगा और नेल्लोर , मछलीपट्टनम को 5 दिसंबर से होकर गुजरेगी ।चक्रवात की अधिकतम गति 80-100” पूर्वानुमान में,
अगर यह चक्रवात में बदल जाता है तो इस चक्रवात का नाम मिचौंग के रूप में जाना जाएगा, जो म्यांमार द्वारा दिया गया नाम है। बंगाल की खाड़ी में मौसम प्रणाली के अनुसार 3 दिसंबर को तिरुवल्लूर, चेन्नई, कांचीपुरम, रानीपेट, चेंगलपट्टू, विल्लुपुरम, मयिलादुथुराई भारी बारिश होनी की आशंका जताई जा रही हैं।
तिरुवरूर और नागपट्टिनम में 3 Dec को अलग- अलग स्थानों पर भारी बारिश होनी की आशंका है।जिलों में बारिश जारी रहेगी,और तिरुवल्लुर जिले में 4 Dec को रेड अलर्ट जारी किया गया है।
मौसम विभाग ने भी चक्रवाती तूफान की तीव्रता के कारण तिरुवल्लुर और चेन्नई के लोगों को 4 Dec और 5 दिसंबर को मौसम विभाग द्वारा चक्रवाती तूफान की तीव्रता को देखते हुए लोगो को घर के अंदर रहने के लिए कहा गया है। वहीं चेन्नई के पुलिस ने ऊंची लहरों के कारण लोगों को शहर के समुद्र तटों पर न जाने की सलाह दी है।
राजस्व मंत्री ने पत्रकारों को जानकारी देते हुए कहा कि राष्ट्रीय आपदा राहत बल और राज्य आपदा राहत बल को मईलादुथुराई, नागापट्टिनम, तिरुवल्लूर, कुड्डालोर, विल्लुपुरम, कांचीपुरम, चेंगलनाट्टू और चेन्नई में 17 टीमों को भेजा गया है।
चक्रवात को देखते हुए राज्य भर के सभी जिलों में 121 बहुउद्देश्यीय आश्रय और 4,967 राहत शिविर तैयार किया गया है। वहीं नियंत्रण कक्ष चौबीसों घंटे काम करना शुरू कर चुके हैं। चेन्नई में राहत शिविर 162 तैयार किया गया है और अभी तक राहत मिली लोगो की संख्या 299 है। इन सभी को अभी तक एक ही शिविर में रखा गया है, भारी बारिश के बाद सड़को पे जमा पानी को निकालने के लिए 506 पंप को तैयार रखा गया है यह जानकारी ”रामचंद्रन द्वारा दिया गया है।
भारी तुफान की आशंका को देखते हुए तमिलनाडू बिजली बोर्ड भी सतर्क और तैयार है यह जानकारी वित्त मंत्री थंगम थेनारासु, जिनके पास बिजली विभाग का अतिरिक्त प्रभार है, इन्होंने यह जानकारी दी ।
मंत्री ने कहा, ” 15500 बिजली विभाग के कर्मचारी द्वारा स्थिति को संभालने के लिए तैयार हैं और अधिकारियों को भी चौकना रहने के लिए कहा गया है और बिना देरी के शिकायतों पर जल्द से जल्द करवाई हो। वही सभी अस्पतालों और सरकारी कार्यालयों में बिजली आपूर्ति बाधित न इसके लिए सुनिश्चित करने के लिए कहा गया है।”

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *