Thu. Jul 25th, 2024

भारत ने स्वदेशी हलके टैंक ” जोरावर ” का अनावरण किया

भारत ने स्वदेशी हलके टैंक " जोरावर " का अनावरण किया भारत ने स्वदेशी हलके टैंक " जोरावर " का अनावरण किया 

भारत ने स्वदेशी हलके टैंक ” जोरावर ” का अनावरण किया 

भारत ने डीआरडीओ और लार्सन एंड टुब्रो द्वारा संयुक्त रूप से विकसित ‘ जोरावर ” लाइट टैंक का अनावरण किया है , जिसका उद्देश्य उचाई वाले वातावरण में सैन्य क्षमताओं को बढ़ाना है |

रिकॉर्ड दो साल की समयसीमा के भीतर डिजाइन किए गए इस टैंक में 105 मिमी राइफल वाली टॉप और कम्पोजिट मॉड्यूलर कवच सहित अन्नत हथियार और सुरक्षा प्रणालियाँ है | जनरल जोरावर सींग के नाम पर , इस टैंक को लद्दाख , सिक्किम या कश्मीर में संभावित तैनाती से पहले व्यापक परीक्षणों के लिए तैयार किया गया है |

” जोरावर ” टैंक जो शुरू में 750 एचपी कमिंस इंजन द्वारा संचालित था और जिसे घरेलु प्रतिस्थापन के लिए योजना बनाई गई थी , जॉन कॉकरील के परिष्कृत बुर्ज से सुसज्जित है , जिसमे इलेक्ट्रो – ऑप्टिकल कैमरे और एंटी – टैंक गाइडेड मिसाइलें है |

यह रिमोट – कण्ट्रोल वेपन सिस्टम जैसी उन्नत प्रणालियों को एकीकृत करता है और इसे उभयचर सञ्चालन के लिए डिजाइन किया गया है , जो विभिन्न इलाकों में गतिशीलता को बढ़ाता है |

गलवान घाटी में गतिरोध के दौरान उजागर की गई सामरिक जरूरतों के जवाब में विकसित ” जोरावर ” का उद्देश्य चुनौतीपूर्ण इलाकों में भारतीय सैन्य उपस्थिति को बढ़ाना है |

विकासात्मक परीक्षणों के हिस्से के रूप में , अगले छह महीनों में , टैंक का परिक्षण गर्मी , सर्दी और उचाई सहित विभिन्न परिस्थितियों में किया जाएगा | अगस्त 2025 तक उपयोगकर्ता परीक्षणों के लिए टैंक को सेना को सौपने की योजना है |

इस बिच , डीआरडीओ ने हलके टैंक के लिए एक नया पावर पैक विकसित करने के लिए एक परियोजना शुरू की है क्योंकि अर्जुन एमके 1 ए मुख्य युद्धक टैंक के लिए एक नया 1400 एचपी इंजन भी विकसित किया जा रहा है |

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *